SaReGaMa Carvaan

सा रे गा मा….

न न भाईसाब, सुर ठीक नहीं बैठ रहा है।

फिर ट्राई कीजिए-

सा रे गा मा…अहम-अहम।

लगता है गला खराब है आपका…कोई बात नहीं, एक बार और सुर लगाइए।

सा रे गा मा कारवाँ…..

वाह!! क्या सुर लगाया है आपने।

चौंकिए मत। हम और आप आज यहाँ न ही सुरों की महफिल लगाने वाले हैं और न ही इंडियन आइडल के लिए किसी का ऑडिशन लेने वाले हैं। हम

बस एक ब्रांड की विज्ञापन स्ट्रैटेजी पर बात करने वाले हैं, जिसने दशकों से हमारे दिलों पर राज करने वाले ऑल टाइम हिट क्लासिक गानों को संजोने का काम किया है।

सारेगामा कारवाँ…जी यही नाम है उस ब्रांड का, जिसने हमें ये अनोखी सौगात दी है। हाल के कुछ समय में इसने जिस अंदाज़ में अपनी विज्ञापन स्ट्रैटेजी को पिरोया है, वह वाकई काबिल-ए-तारीफ है।

saregama-carvaan

कंपनी ने कुछ वक्त पहले ही गजराज राव को लेकर ‘Kya Hai Isme’ कैंपेन लॉन्च किया है, जिसमें 7 विज्ञापनों की एक पूरी सीरीज़ निकाली गयी है। इस सीरीज़ के विज्ञापन इतने क्रिएटिव और रेलेवेंट हैं कि खुद-ब-खुद हमारी जुबाँ पर जिंदगी का स्वाद आ जाता है। इस सीरीज़ का हर एक विज्ञापन बहुत ही प्यार से बनाया गया है और उसमें गजराज राव और उनकी पत्नी का किरदार निभाने वाली अदाकारा ने जो काम किया है, उसकी तारीफ के लिए शब्द भी कम पड़ जाते हैं। पति-पत्नी के बीच की वो छोटी-मोटी नोंक-झोंक, वो मज़ाकिया अंदाज़ और कुछ न कहते हुए भी प्यार का एहसास कराने वाली वो छोटी-छोटे जेस्चर्स आपको एक अलग ही दुनिया में लेकर जाते हैं।

इस कैंपेन के सारे विज्ञापन ये भी बताते हैं कि हमारे जीवन में गीत-संगीत कितनी अहमियत रखते हैं। एक-एक गाना कैसे हमारी ज़िंदगी से जुड़ा होता है, कैसे हमारे इमोशन्स को हिट करता है और कैसे हमारे मूड को चुटकी में बदल सकता है।

अगर आपकी निगाह इस कैंपेन पर गई हो तो आपको बेशक इस बात का अंदाज़ा लग गया होगा कि हम इस कैंपेन का इतना बखान क्यों कर रहे हैं। इस कैंपेन के एक विज्ञापन में गजराज राव अपनी बाल्कनी में खड़े होकर अपने पड़ोस में रहने वाली एक खूबसूरत महिला को देखकर जब वेव करते हैं, तो उनकी धर्मपत्नी कपड़े सुखाने अचानक वहाँ आ धमकती है। माहौल को लाइट करने के लिए गजराज राव सारेगामा कारवाँ का सहारा लेते हैं और उनकी पत्नी का गुस्सा पल में छू हो जाता है। यह विज्ञापन बड़ा ही प्यारा बन पड़ा है और सबसे बड़ी बात, इस विज्ञापन के ज़रिए सारेगामा कारवाँ अपनी टार्गेट ऑडियन्स से सीधे बात करने में कामयाब भी होती दिख रही है।

saregama-carvaan

इसके अलावा इस सीरीज़ के अन्य विज्ञापन भी आपको ‘एसेंस ऑफ लाइफ’ का फील कराते हैं और बताते हैं कि गानों की हमारी लाइफ में क्या इंपोर्टेंस है। खासकर वो गाने, जो सालों पहले हमारे पापा-मम्मी, दादा-दादी, नाना-नानी जैसे लोगों की प्लेलिस्ट में हुआ करते थे, वो भी तब जनाब जब हम और आप जैसे आज की जनरेशन के लोग हमारे पैरेंट्स की प्लानिंग लिस्ट में नहीं थे। ख़ैर, आपका तो नहीं पता, मगर मुझे क्लासिक गानों से बड़ा ही प्यार है। इतना प्यार… कि नये गानों की लिस्ट पर टैप करने से पहले मैं लता, आशा, किशोर, रफी या मुकेश की प्लेलिस्ट पर टैप करना प्रीफर करता हूँ।

saregama-carvaan

यहाँ यह बताना भी ज़रूरी है कि इससे पहले सारेगामा कारवाँ ने “आपके पहले प्यार के लिए, आपकी माँ के लिए  नाम से एक और कैंपेन भी लॉन्च किया था, जिसकी चारों ओर तारीफ हुई थी। माँओं को केंद्र में रखकर बनाये गये उन विज्ञापनों ने हर किसी के दिल के तारों को छुआ था। ख़ैर, इस पर हम अपने आगामी किसी अंक में बात करेंगे। अभी ज़रूरी है कि हम गजराज राव अभिनीत इस हालिया कैंपेन पर फोकस करें। अगर आपने इस कैंपेन को देखा है, तो बहुत-बहुत बधाइयाँ क्योंकि आपने कुछ अच्छे मोमेंट्स जी लिए हैं। अगर आपने ये कैंपेन नहीं देखा है तो बिना देर किये यू-ट्यूब का रुख कीजिए और इस कैंपेन के सारे विज्ञापनों को देख लीजिए। वो इसलिए, क्योंकि इसे मिस करना लाइफ के हसीन पलों को मिस करने जैसा है। तो जाते-जाते लगाइए एक आखिरी सुर…सा रे गा मा कारवाँ….।।।

विज्ञापन एजेंसी – द वॉम्ब

निर्देशन – अमित शर्मा, क्रोम पिक्चर्स

लीडिंग कास्ट – गजराज राव

अगर आप ऐसी और भी इंटरेस्टिंग स्टोरीज़ पढ़ना चाहते हैं, तो #AdKiJhappi  पर जायें।

2020-01-10T10:30:27+00:00

Content To Connect

Contact
Good things come to those who sign up for our newsletter
Join our email list to get the latest blog posts straight to your inbox
SUBSCRIBE
Give it a try, you can unsubscribe anytime.
close-link